Portfoliyo Management Kya Hota Hota Hai?- samjhakya.com

0
144

हैलो दोस्तों आज हम Portfolio Management के बारे में बात करेंगे। यह पोर्टफोलियो मैनेजमेंट होता क्या है? और इसे करते कैसे हैं? इस मैनेजमेंट का फायदा क्या होता है? इसका उद्देश्य क्या होता है? क्या पोर्टफोलियो मैनेजमेंट जरूरी होता है? इस इस ब्लॉग में आप इस टॉपिक पर पूरी जानकारी ले सकते हैं।

What-is-Portfolio-Management

Portfolio Management क्या होता है?

Portfoliyo Management वह कला है जो किसी भी निवेशक को उसके बनाए goal को पाने के लिए निवेश करने के तमाम विकल्पों में से एक बेहतरीन तरीका खोजने में मदद करता है। जिस वजह से निवेशक को निवेश में रिस्क कम करने में मदद मिलती है और अपना लाभ(Rate of Return) भी अच्छे से मिलता है।

पोर्टफोलियो मैनेजमेंट कम महत्व क्या है?

दोस्तों एक इन्वेस्टर के लिए Portfoliyo Management बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। जैसा कि हमें यह पता है कि इंडस्ट्री में निवेश करने के बहुत सारे विकल्प मौजूद है जैसे Fixed Deposite, म्यूच्यूअल फंड, स्टॉक्स, रियल स्टेट, कमोडिटीस आदि।
निवेश की दुनिया में निवेश करने के तमाम विकल्पों के साथ साथ तमाम तरीके भी मौजूद है। और उन हर तरीकों से हमें अलग-अलग मात्रा में लाभ प्राप्त हो सकता है। लेकिन आपको बता दें कि profit जितना ज्यादा होता है उसका रिस्क भी उतना ही ज्यादा होता है।

उदाहरण-

  • जैसे अगर हम स्टॉक मार्केट में इक्विटी स्टॉक्स पर निवेश करते हैं तो हमें 20-25% का रिटर्न मिल सकता है या इससे भी ज्यादा। जिस तरह से हम निवेश करते हैं। लेकिन यहां पर आपको रिस्क भी हाई लेना होता है। आपका पैसा डूब भी सकता है और कई गुना बढ़ भी सकता है।
  • अगर आप अपना पैसा फिक्स डिपाजिट में निवेश करते हैं तो आपका पैसा सुरक्षित रहता है। यहां रिटर्न आपको सिर्फ 7 परसेंट का ही मिलता है। लेकिन रिस्क बिल्कुल नहीं होता है। आपका पैसा डूबता नहीं है।

तो दोस्तों यह डिसाइड आपको करना है कि कम रिस्क लेना है या ज्यादा।

isse bhi padhe- Narco Test kya hai

पोर्टफोलियो मैनेजमेंट का उद्देश्य क्या होता है?

  1. निरंतरता- इस मैनेजमेंट का मकसद यह भी होता है कि निवेश से रिटर्न लगातार मिलता रहे।
  2. सुरक्षा- निवेश करने के लिए लगाया गया पैसा सुरक्षित रहें।
  3. तरलता- निवेश के विकल्प में लिक्विडिटी बनी रहे। हम अपने निवेश को जरूरत के समय पर तुरंत cash में बदल सकें।
  4. टैक्स सेविंग- ज्यादा से ज्यादा लाभ कमा सकें और सरकार द्वारा दी गई टैक्स सेविंग स्कीम का लाभ भी ले सकें।
  5. पावर आफ कंपाउंडिंग- इसकी मदद से हम अपनी पूंजी को जल्दी और ज्यादा बढ़ा सकते हैं।

What is RD

निष्कर्ष

दोस्तों Portfolio Management के बारे में हमने आपको बता दिया है। यह मैनेजमेंट किसी भी निवेशक के लिए बहुत ही जरूरी होता है। इसकी मदद से आप एक अच्छी स्ट्रेटजी बना सकते हैं। आप अपने रिस्क को कम कर सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा लाभ कमा सकते हैं। इस मैनेजमेंट को हर निवेशक को सीखना चाहिए ताकि उसे कभी भी निवेश करने में दिक्कत ना हो। और वह अपने निवेश को एनालाइज कर सके।

दोस्तों यह ब्लॉग पढ़ने के बाद आप अपना कमेंट जरूर करें। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इस आर्टिकल को शेयर भी करें अपने दोस्तों में ताकि उन्हें भी इसकी जानकारी हो सके और अपना फीडबैक जरूर दें। हमें आप सोशल मीडिया पर भी ज्वाइन कर सकते हैं।