Home News बोडो समझौता क्या है?जानिये | What is BODO Accord full explaination

बोडो समझौता क्या है?जानिये | What is BODO Accord full explaination

बोडो समझौते के लिए CAA के संसद में पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम दौरे पर हैं। वह हाल में ही हुए बोडो समझौते के लिए आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने को असम के कोकराझार में एक जनसभा संबोधित करेंगे। बोडो समझौता 27 जनवरी को अमित शाह की मौजूदगी में हुआ।

NDFB (National Democratic Front of Bodoland) के लगभग 1615 कैडरों ने अपने हथियार डाल दिए और समझौते के बाद मुख्यधारा में शामिल हो गए। bodo accord में क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 15 100 करोड रुपए का पैकेज दिया गया है।

what-is-bodo-accord

 

बोडो समझौता है क्या?

बोडो समझौता असम के बोडो आदिवासियों के लिए राजनीतिक और आर्थिक मदद उपलब्ध कराएगा। असम की क्षेत्रीय अखंडता रखी जाएगी। यह समझौता बिना किसी तरह राज्य के विभाजन किये संविधान की रूपरेखा के अंदर किया गया है। bodo accord समझौते का मुख्य कारण यह है कि असम से बोडो उग्रवादियों को खत्म किया जा सके।

JOIN OUR FACEBOOK PAGE

27 जनवरी को क्या हुआ-

27 जनवरी को यह bodo accord हुआ। इस समझौते पर गृहमंत्री अमित शाह का कहना है कि 9 संस्थानों ने मिलकर एक एग्रीमेंट साइन किया है। बोडो समझौता क्षेत्र का और असम के विकास का रास्ता खोलने वाला एग्रीमेंट होगा। असम के अंदर बहुत ही बड़ी मुसीबत थी कि कभी ना कभी असम का विभाजन हो जाएगा परंतु बोडो समझौते के कारण असम अखंड रहकर अपने साथियों को महत्व देकर उनको भी विकास की धारा में शामिल कर सकेगा। उनकी भाषा, उनकी संस्कृति और उनके अधिकारों को सुरक्षित कर सकेगा।

isse bhi dekhe- What is leverage Ratio

बोडो आंदोलन का इतिहास-

  • 1966 में प्लेंस ट्राईबल काउंसिल ऑफ असम का गठन
  • बोडो ने केंद्र शासित प्रदेश उद्यानचल की मांग करी
  • सांस्कृतिक और नस्लीय पहचान की सुरक्षा को लेकर मांग
  • असम में उग्रवाद का बढ़ाव
  • बोडो जनजाति ने हथियार उठाए
  • नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड का गठन
  • NDFB के द्वारा संप्रभु बोडोलैंड की मांग
  • 1980 के दशक में तीन भागों में बटा आंदोलन
  • 1993 से 2014 के बीच लाखों लोग विस्थापित हुए
  • 1987 में वोडे का हिंसा शुरू
  • 2823 नागरिक मारे गए बोडो

isse bhi dekhe- What is FATF

बोडो समझौता पर निष्कर्ष-

  1. इस समझौते से बोडो समस्या से जुड़े सभी लोगों को एक साथ एक मंच पर लाना एक बड़ी सफलता है।
  2. इसके कारण बोडो जनजाति के विकास के साथ-साथ असम की सुरक्षा भी की जा सकेगी
  3. इसमें हिंसा से जुड़े लोगों को मुख्यधारा में करने के साथ क्षेत्र के विकास के लिए समुदाय के हर तरह के वर्गों का ध्यान रखा गया है।
  4. भारत के पूर्वोत्तर की आंतरिक अस्थिरता के समाधान के लिए बृरू समझौते के साथ यह समझौता भी बहुत महत्वपूर्ण होगा।
  5. क्षेत्र की अस्थिरता इस क्षेत्र में निवेश के लिए एक बड़ी बाधा बनी थी परंतु इस समझौते के बाद पूर्वोत्तर भाग में भी निवेश को बल मिलेगा।
samjhakya
Hello, I'm Anoop Rajvanshi and founder of samjhakya.com . Samjhakya is best portal for educational blogs here you can get detailed knowledge. Thankyou

1 COMMENT

Comments are closed.

Most Popular

Arnab Goswami Arrested by Mumbai Police| Full case explanation in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम Arnab Goswami के Arrest पर कुछ बात करेंगे। जो कि इस टाइम की सबसे बड़ी खबर बन चुकी है। अर्नब...

Narco Test Kya Hota Hai full Detailed Knowledge in Hindi- Samjha Kya

हैलो दोस्तों आज हम Narco Test के बारे में बात करेंगे। यह नारको टेस्ट होता कैसे है? इसे क्यों करवाया जाता है? इससे फायदा...

Portfoliyo Management Kya Hota Hota Hai?- samjhakya.com

हैलो दोस्तों आज हम Portfolio Management के बारे में बात करेंगे। यह पोर्टफोलियो मैनेजमेंट होता क्या है? और इसे करते कैसे हैं? इस मैनेजमेंट...

What is Code of Conduct? आचार संहिता चुनाव के लिये क्यो जरूरी है?

दोस्तों, यह तो आप सभी ने सुना होगा कि हमारे यहां पर जब कभी किसी पार्टी के चुनाव होते हैं तो उसके कुछ दिन...