Home Political blog वायबिलिटी गैप फंडिंग क्या होती है? Viability Gap Funding se kese fayda...

वायबिलिटी गैप फंडिंग क्या होती है? Viability Gap Funding se kese fayda hota hai

हैलो दोस्तों आज हम  वायबिलिटी गैप फंडिंग के बारे में बात करेंगे।

वायबिलिटी गैप फंडिंग क्या है?

भारत एक विकसित देश है | यहाँ  वायबिलिटी गैप फंडिंग की जरूरत इसलिए है क्यूकी यहॉं का वित्तीय ढांचा आज भी उतना सक्षम नहीं हैं जितना की विकसित देशो का होता है इसका मुख्य कारण है वित्त के लिए स्रोत की कमी |देश हित की कई  परियोजनाए  प्रारंभ तो होती हैं पर वित्तीय सहायता के अभाव में बंद हो जाती हैं |

viability-gap-funding

ये मुख्यतः वे परियोजनाए होती हैं जो दीर्घकालीन होती हैं और विकास उन्मुख होती है | इस तरह की परियोजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए भारत सरकार की आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने 25 जुलाई 2005 की अपनी बैठक में इन्फ्रास्ट्रक्चर में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप को समर्थन देने की योजना को मंजूरी दी। जिसे वायबिलिटी गैप फंडिंग कहा जाता है |

VGF ka pawer kya hai

यह एक ऐसा अनुदान होता है जो सरकार द्वारा ऐसी  आधारभूत परियोजनाओं  को प्रदान किया जाता है जो आर्थिक रूप से उचित हैं  लेकिन उनकी वित्तीय व्यवहार्यता कम है | ये योजनाये दीर्घकालिक होती हैं  |

Viability Gap Funding आम आदमी के लिए कैसे लाभकारी है – 

जैसे कि हवाई यात्रा करना आम नागरिको के लिए एक सपना मात्र है क्यूंकि हवाई यात्राओ के लिए बहुत अधिक किराया देना होता है | इसका मुख्य कारण है हवाई अड्डो के निर्माण और हवाई यात्राओं के संचालन में लगने वाला व्यय  बहुत अधिक होता है जिसकी लागत निकलने के लिए हवाई यात्राओं के लिए अधिक किराया वसूला जाता है | पर अब भारत सरकार ने क्षेत्रीय मार्गो पर सस्ती और आर्थिक रूप से व्यवहारिक उड़ानों को मंज़ूरी दी है | जिसमे 500 किमी के लिए यात्रियों से अधिकतम 2500 रु किराया लिया जा सकेगा और अगर विमान कम्पनीयों को नुक्सान होता है तो उसकी भरपाई सरकार करेगी |

Isse bhi padhe- [What Is CLONE TRAIN]

अब यहाँ उन क्षेत्रो में जहाँ  हवाई अड्डो का निर्माण होना है वहां सरकार वी जी एफ की मदद उपलब्ध कराएगी | जो निजी संस्थाए निर्माण कार्य के लिए इक्षुक है  वो आवेदन कर सकती है | इस योजना का मुख्य उद्देश्य यात्रा को सुगम बनाना , पर्यटन को बढावा देना , रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराना  है  पर और भी कई प्रकार से ये हमारे लिए लाभ कारी हो सकती है | 

isse jarur badhe- What is Code of Conduct| Full knowlege in hindi

यह तो केवल एक उदाहरण है आप ऐसे कई और भी उदाहरण देख सकते है |

जैसे  सड़क निर्माण अगर निजी संस्था पूरी लागत का वहन करेगी तो अपनी लागत वसूल करने के लिए यात्रियों से अधिक टोल वसूल करेगी | पर अगर उसे सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त होगी तो उनकी लागत कम होगी जिसका लाभ आम नागरिको को मिलेगा | 

 

 वायबिलिटी गैप फंडिंग (वीजीएफ) एक प्रोत्साहन योजना है जिसमें परियोजना को आर्थिक रूप से व्यवहार्य बनाने के लिए सरकार द्वारा कुल पूंजीगत लागत का एक निश्चित प्रतिशत भुगतान किया जाता है। 

वी जी ऍफ़ अनुदान केवल बुनियादी परियोजनाओं के लिए ही लागू होता है | इस योजना के लिए निजी प्रायोजको का चुनाव प्रतिस्पर्धी  बोली के माध्यम से किया जाता है | 

वायबिलिटी गैप फंडिंग अनुदान के लिए उपयुक्त मापदंड –  

  1. परियोजना में 40%  हिस्सेदारी निजी कम्पनी की  होनी चाहिए | परियोजना समय पर पूर्ण होना चाहिए एवं उसके संचालन एवं रखरखाव की उचित व्यवस्था होनी चाहिए | 
  2. परियोजना आधारभूत आवश्यकताओं  में से किसी एक प्रकार की होनी चाहिए – जैसे हवाई अड्डे , बंदरगाह , सड़क  शक्ति; पानी की आपूर्ति, शहरी क्षेत्रों में सीवरेज और ठोस अपशिष्ट का निकास, अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र आदि |
  3. परियोजना सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होनी चाहिए | 
  4. कुल सरकारी सहायता परियोजना की पूरी लागत का 20 % से अधिक नहीं होना चाहिए | 

फंड किस प्रकार प्राप्त होता है – 

  1. ये फंड आपको उसी रूप में प्राप्त होगा जैसा की आपने अनुदान लेते समय निश्चित किया होगा | आप परियोजना के लिए चरणबद्ध तरीके से भी अनुदान ले सकते हैं | 
  2. आपको राशि किश्तों में भी प्राप्त हो सकती है और अनुदान का 15% परियोजना के पूर्ण रूप से क्रिन्यान्वयन के बाद प्राप्त होगा | 
  3. योजना के पहले चरण में अनुदान का वितरण पहले आओ पहले पाओ के आधार पर किया जाता था | पर अब खुली बोली के आधार पर चयन होता है | 

एक बार अगर अनुदान मिल जाता है और परियोजना पर कार्य प्रारंभ हो जाता है तो एक अग्रणी वित्तीय संस्थान को इस बात की ज़िम्मेदारी दी जाती है कि वो समय समय पर  परियोजना की जांच करे और उसके निर्माण और धन के उचित प्रबंधन की जानकारी सरकार को उपलब्ध कराये  | सामन्यतः ये जांच  प्रत्येक तीन माह में होती है और इसकी रिपोर्ट कार्यकारी संस्था को भेजी जाती है | 

वीजीएफ से  क्या लाभ होता है –  

  1. वी जी एफ किसी भी अवसंरचनात्मक विकास निर्माण कार्य के लिए लिया जा सकता है | 
  2. VGF की सहायता से आर्थिक तनाव समाप्त होता है और परियोजना का संचालन सुचारू रूप से हो पाता है | 
  3. इसकी सहायता से निर्माण कार्य में पारदर्शिता  आ जाती है | क्यूंकि सरकार की पूरी निगरानी रहती है |
  4. वी जी एफ अनुदान में क्रेडिट वृद्धि योजनाओं के चलते पूंजीगत लागत कम करने में सहायता मिलती है | 
  5. वीजीएफ निजी क्षेत्र के लिए लचीलापन , क्षमता , नवीनता और बेहतर बुनियादी ढांचा प्रदान करता है | 
  6. उपयोगकर्ताओं को भी कम व्यय में अधिक सुविधा प्राप्त होती है | 

इस प्रकार वायबिलिटी गैप फंडिंग  सरकार की एक प्रंशसनीय योजना है जो निजी संस्थाओ को आर्थिक मदद प्रदान करता है जिससे आम नागरिकों के लिए आधारभूत सुविधाएँ सुलभ हो सके और सभी परियोजनाओं का संचालन सही प्रकार से हो सके | 

samjha kya fb page follow

 

samjhakya
Hello, I'm Anoop Rajvanshi and founder of samjhakya.com . Samjhakya is best portal for educational blogs here you can get detailed knowledge. Thankyou

Most Popular

Arnab Goswami Arrested by Mumbai Police| Full case explanation in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम Arnab Goswami के Arrest पर कुछ बात करेंगे। जो कि इस टाइम की सबसे बड़ी खबर बन चुकी है। अर्नब...

Narco Test Kya Hota Hai full Detailed Knowledge in Hindi- Samjha Kya

हैलो दोस्तों आज हम Narco Test के बारे में बात करेंगे। यह नारको टेस्ट होता कैसे है? इसे क्यों करवाया जाता है? इससे फायदा...

Portfoliyo Management Kya Hota Hota Hai?- samjhakya.com

हैलो दोस्तों आज हम Portfolio Management के बारे में बात करेंगे। यह पोर्टफोलियो मैनेजमेंट होता क्या है? और इसे करते कैसे हैं? इस मैनेजमेंट...

What is Code of Conduct? आचार संहिता चुनाव के लिये क्यो जरूरी है?

दोस्तों, यह तो आप सभी ने सुना होगा कि हमारे यहां पर जब कभी किसी पार्टी के चुनाव होते हैं तो उसके कुछ दिन...